ऑड-ईवन का दूसरा चरण, दिल्ली में 23 फीसदी बढ़ गया प्रदूषण

ऑड-ईवन का दूसरा चरण, दिल्ली में 23 फीसदी बढ़ गया प्रदूषण : राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए लागू की गई सम-विषम (ऑड-ईवन) योजना के दूसरे चरण में एक से 15 अप्रैल के मुकाबले 15 से 30 अप्रैल के बीच प्रदूषण के स्तर में करीब 23 प्रतिशत की ‘वृद्धि’ हुई है।

गौरतलब है कि एक से 15 अप्रैल के बीच राजधानी दिल्ली में सम-विषम योजना लागू नहीं हुई थी। उसे 15 अप्रैल से एक पखवाड़े के लिए लागू किया गया। राष्ट्रीय राजधानी में कम मूल्य वाले सेंसर्स का नेटवर्क चलाने वाले पोर्टल ‘इंडियास्पेंड’ ने बारीक कणों.. पीएम 2.5 और पीएम 10 पर अपना अध्ययन किया है। उसे अपने अध्ययन में प्रदूषण गैसों जैसे ओजोन आदि को शामिल नहीं किया है।

ऑड-ईवन का दूसरा चरण, दिल्ली में 23 फीसदी बढ़ गया प्रदूषण
ऑड-ईवन का दूसरा चरण, दिल्ली में 23 फीसदी बढ़ गया प्रदूषण

रिपोर्ट के अनुसार, 15 से 29 अप्रैल के बीच बारीक कणों.. पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा हवा में क्रमश: 68.98 और 134.39 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर थी। जबकि अप्रैल के पहले 15 दिनों में इनकी मात्रा क्रमश: 56.17 और 110.04 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर थी।

और पढ़ें : केजरीवाल ने ऑड-ईवन फॉर्मूला पर 15 दिन में खर्च किए 20 करोड़ रुपए , EXPOSED : केजरीवाल के झूठ का खुलासा, कभी नहीं रहे इनकम टैक्स कमिश्नर , अरविंद केजरीवाल की Anti-Corruption हेल्पलाइन में ही हो गया घोटाला

इन बेहद हानिकर प्रदूषकों पीएम 2.5 और पीएम 10 की सुरक्षित मात्रा क्रमश: 60 और 100 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर है। शहर में वायु गुणवत्ता को मापने वाली अन्य एजेंसियां हैं.. दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति और केन्द्र की सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग (सफर) तथा सीएसई और टेरी।

प्रत्येक घंटे मापे गए प्रदूषण के आधार पर किए गए विश्लेषण के अनुसार, प्रदूषण सबसे ज्यादा सुबह सात बजे रहा। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘शाम के पांच बजे का समय सम-विषम के दौरान दिल्ली के लिए सबसे अच्छा रहा, उस दौरान पीएम 2.5 का स्तर 21 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर था।’

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

loading...

Loading...
शेयर करें