सेना ने शुरू किया इस नए सिस्टम का इस्तेमाल, अब नहीं बचेंगे घर में छुपे आतंकी

0
847

पिछले एक हफ्ते में भारतीय सेना द्वारा एलओसी के रास्ते घुसपैठ की कोशिश कर रहे 12 आतंकियों को मार गिराया गया है। गुरुवार तक सेना की कार्रवाई में सात आतंकियों को मार गिराया जा चुका था, जिसके बाद सेना द्वारा एलओसी से सटे तमाम इलाकों में आतंकी घुसपैठ की आशंकाओं के चलते सर्च आपरेशन चलाया गया और गत रात 5 और आतंकियों को ढेर कर दिया गया।

SOURCE: ANI news agency

खबर अनुसार कश्मीर के उड़ी में चल रहा सेना का सर्च ऑपरेशन खत्म हो गया है। रविवार की सुबह सेना ने इस ऑपरेशन में मारे गए पांच आतंकियों की तस्वीरे जारी की। साथ ही सेना ने आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में बड़ी संख्या में हथियार भी जब्त किए हैं।

दरअसल अब कश्मीर में घरों में छुप कर बैठे आतंकियों की अब खैर नहीं है। भारतीय सेना इन आतंकियों से निपटने के लिए नई रणनीति बना रही है। अंग्रेजी समाचार पत्र टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार सेना सर्च ऑपरेशन के दौरान जिहादियों और आतंकियों को पकड़ने के लिए एक नए रडार सिस्टम का इस्तेमाल कर रही है।

बता दें कि रडार घरों में और दीवार के आरपार एक्सेस करने में भी सक्ष्म है। भारत से पहले इन रडार सिस्टम को अमेरिका और इजरायल से पहले ही मंगाया जा चुका है। रडार सिस्टम भारतीय सेना के जवानों को उन आतंकियों की लोकेशन ट्रेस करने में मदद करेंगे, जो अंडरग्राउंड होकर काम करते हैं।

खबर अनुसार कुछ जवान इन रडार सिस्टम का इस्तेमाल कश्मीर में कर रहे हैं। बता दें कि सेना को इस तरह के रडार के जरूरत सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में मिली असफलता के बाद पड़ी। इस ज्वाइंट ऑपरेशन में सेना के जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस घर में छुपे आतंकियों को खोज रही थी।

सेना की इंटेलिजेंस एजेंसी को खबर मिली थी कि कुछ जिहादी आतंकी कश्मीर में घरों में छुपकर आतंक फैलाने का काम कर रहे हैं। जिसके बाद से सेना ने यह ज्वाइंट ऑपरेशन शुरू किया था।

इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...