बैंकरों और अधिकारियों के बीच सांठ-गांठ पर कड़ी कार्रवाई करेगी सरकार : पीयूष गोयल

बैंकरों और अधिकारियों के बीच सांठ-गांठ पर कड़ी कार्रवाई करेगी सरकार : पीयूष गोयल : एचटी समिट में ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि नोटबंदी के मुद्दे पर लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साथ दिया है.

एचटी समिट में गोयल ने कहा कि कानूनी तरीके से कोई भी सोना रख सकता है. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में बैंकरों और अधिकारियों के बीच सांठ-गांठ की बात कही जा रही है. सरकार इस पर कड़ी कार्रवाई करेगी.
बैंकरों और अधिकारियों के बीच सांठ-गांठ पर कड़ी कार्रवाई करेगी सरकार : ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल
ऊर्जामंत्री पीयूष गोयल ने नोबेल पुरस्कार विजेता अर्थशास्त्री पॉल क्रुगमैन की भी नोटबंदी की आलोचना की पर निंदा की. गोयल ने कहा कि पिछले एक दशक में उन्होंने कई मुद्दों पर जो बात रखी वह सही नहीं निकली. उन्होंने ओबामा और लेहमैन से जुड़ी जो बात कही वह गलत साबित हुई. ट्रंप के चुनाव जीतने के बाद अमेरिकी बाजार पर जो बात कही वह भी गलत साबित हुई. गोयल ने कहा कि नोबेल पुरस्कार मिलने का मतलब यह नहीं होता कि संस्था ने यह कह दिया कि यह जो भी कहेगा सही होगा.

केंद्रीय मंत्री ने दावा किया कि यूपी का चुनाव बीजेपी अच्छे से जीत रही है. उन्होंने कहा कि नोटबंदी के पहले भी हम जीत रहे थे और अब जीत काफी अच्छी रहेगी. गोयल ने कहा कि पंजाब में भी लोग अकाली बीजेपी की सरकार को फिर से पूर्ण बहुमत देंगे.

Image result for piyush goyal

एचटी समिट में गोयल ने कहा, इस साल गेहूं की बुआई में बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा कि भारत में बदलाव की क्षमता है. ऊर्जा मंत्री ने कहा, पता नहीं अर्थशास्त्री कैसे कह रहे हैं कि GDP गिरेगी?

सोना रखने और लोगों की जिंदगी में दखल के सवाल के जवाब में गोयल ने कहा, कानूनी तरीके से कोई भी सोना रख सकता है. सरकार किसी की जिंदगी में कोई दखल नहीं दे रही है. गोयल ने दावा किया कि पिछले 2.5 साल में उनके मंत्रालय में एक भी आदमी को उनका अटका हुआ काम करवाने के लिए आने की जरूरत नहीं पड़ी.

गोयल ने कहा कि जिनके पास अवैध पैसा है, उन्हें चिंता करने की जरूरत है. यह भारत के लोग चाहते हैं.

समिट में गोयल ने कहा, इस साल गेहूं की बुआई में बढ़ोतरी हुई है. बीजेपी ने अपने सारे खाते ऑडिट करवाकर चुनाव आयोग में जमा करवा दिया है. साइट पर भी उपलब्ध है. इससे ज्यादा क्या पारदर्शिता होगी.

भारत में विकास के लिए कुछ जरूरी कदम उठाने होंगे. ऊर्जा क्षेत्र में विकास की काफी संभावनाएं हैं. इस क्षेत्र में बड़े निवेश की उम्मीद है.

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...
शेयर करें