विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयास से समुद्री डाकुओं से मुक्त हुए इंजिनियर संतोष

सुषमा स्वराज के प्रयास से समुद्री डाकुओं से मुक्त हुए इंजिनियर संतोष : नाइजीरिया में समुद्री डाकुओं द्वारा अपहरण किए गए बनारस के संतोष भारद्वाज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयास से मुक्त हो गए। मंगलवार की देर रात को डाकुओं के चंगुल से मुक्त होने के बाद संतोष ने बनारस फोन करके परिजनों को यह खबर दी। संतोष की पत्नी कंचन ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को इसका श्रेय देते हुए कहा कि दीदी की ही देन है मेरा सुहाग सही-सलामत मेरे पास आ रहा है।

विदेश मंत्री तक आवाज पहुंचाने के लिए कंचन ने एनबीटी को भी धन्यवाद दिया जो ट्वीट के माध्यम से के साथ उनकी पीड़ा पहुंचाई। संतोष के बुधवार तक बनारस पहुंचने की संभावना है। संतोष के समुद्री डाकुओं के चंगुल से रिहाई की खबर विदेश मंत्री ने बुधवार को ट्वीट करके खुशी जाहिर करते हुए शेयर की है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयास से समुद्री डाकुओं से मुक्त हुए इंजिनियर संतोष
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयास से समुद्री डाकुओं से मुक्त हुए इंजिनियर संतोष 

बिहार के मूल निवासी संतोष कुमार शादी के बाद बनारस के मण्डुआडीह में मकान बनवायाा हैं। सिंगापुर की शिपिंग कंपनी ट्रांसओशन प्राइवेट लिमिटेड में थर्ड इंजीनियर (मैकेनिकल) के पद पर नियुक्त संतोष कुमार की तैनाती नाइजीरिया में है। मालवाहक जहाज से नाइजीरिया बंदरगाह से 26 मार्च को निकले संतोष के साथ उनके पांच साथियों का समुद्री लुटेरों ने अपहरण कर लिया था। जानिए विपक्षी नेताओं ने क्यों की सुषमा स्वराज की तारीफ

पति के अपहरण की खबर मिलने के बाद कंचन ने खाना-पीना छोड़ दिया था। एनबीटी के रिपोर्टर ने रविवार को प्रधानमंत्री के साथ विदेश मंत्री को कंचन के कष्ट को ट्वीट किया। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तीन अप्रैल को कंचन से कहा बहन आप खाना नहीं छोड़ें। मैं आपके पति को छुड़वाने में कोई कसर नहीं छोड़ूंगी। विदेश मंत्री ने इस ट्वीट के बाद काशी की इस बेटी को धैर्य बनाए रखने का ट्वीट करके रिहाई की उम्मीद जगा दी थी।

नाइजीरिया में बंधक बने संतोष की 46 दिन बाद रिहाई की खबर रात को मिलते ही घर पर जहां बधाई देने वालों का तांता लग गया वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ एनबीटी को सोशल मीडिया पर बधाई देने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है।

मर्चेंट नेवी वेलफेयर सोसायटी के आनंद दुबे ने भी संतोष की सकुशल रिहाई के लिए विदेश मंत्री के एनबीटी को बधाई दी है। संतोष के साले ज्ञान प्रकाश ने कहा कि हमारी आवाज को सही जगह पहुंचाकर एनबीटी ने रिहाई की राह तैयार करने में बड़ा योगदान किया है।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के प्रयास से समुद्री डाकुओं से मुक्त हुए इंजिनियर संतोष

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

loading...

Loading...
शेयर करें