पुरस्कार लौटाने वाले लेखकों के लिए हिंदू महासभा ने किया ‘बुद्धि-शुद्धि’ यज्ञ

अलीगढ़ (यूपी): मोदी सरकार के विरोध में साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा रहे लेखकों के लिए हिंदू महासभा ने ‘बुद्धि-शुद्धि’ यज्ञ किया है। हिंदू महासभा ने पुरस्कार वापस करने वाले साहित्यकारों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए रविवार को अलीगढ़ में हिंदू महासभा ने इन साहित्यकारों को देशद्रोही बताया। साथ ही उनके लिए ‘बुद्धि-शुद्धि’ यज्ञ किया।

अखिल भारतीय हिंदू महासभा की राष्ट्रीय सचिव पूजा शकुन पांडेय ने बताया कि हमने साहित्यकारों के लिए बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया। इससे उन साहित्यकारों को कुछ बुद्धि मिलेगी, जो पुरस्कार लौटा रहे हैं। ऐसा किया जाना देश के लिए शर्मनाक है। जिन साहित्यकारों ने अवॉर्ड लौटाया है वे देशद्रोह के आरोपी हैं।

दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा है कि देश के बुद्धिजीवी वर्ग को छोटी-मोटी घटनाओं को तूल देने से बचना चाहिए क्योंकि इससे दुनिया में देश की छवि खराब होती है। यूपी के दादरी में गोमांस खाने की अफवाह पर अखलाक नाम के शख्स की हत्या और लेखक कलबुर्गी के मर्डर जैसी घटनाओं से नाराज लेखक साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा रहे हैं। अब तक लगभग 34 लेखक अपने साहित्य अकादमी सम्मान को लौटाने की घोषणा कर चुके हैं। उनका यह विरोध लेखक एम.एम. कलबुर्गी की हत्या और दादरी हत्याकांड जैसी घटनाओं के संबंध को लेकर है।

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...
शेयर करें