जानिए कितना पुराना है हिंदु धर्म, क्यों नहीं हो रहा विस्तार !

 

Hinduism_ The world's oldest religionsहिंदुस्तान का इतिहास कितना विस्तृत है इसका प्रमाण तो हम सब विद्यार्थी जीवन में जान ही चुके हैं। लेकिन दोस्तों पुरानी सभ्यता होने के साथ-साथ यहां के बहुत कुछ खोते-पाते रहे हैं। न केवल राजा से रंक का दौर देखा बल्कि हमेशा संघर्ष करते रहे। हिंदुस्थल होते हुए भी भारत में कर्इ धर्मों का जन्‍म हुआ। दीन-ए-इलाही, बौद्ध, जैन तथा सिक्‍ख धर्म और जिनका पालन दुनिया की आबादी का 25 प्रतिशत हिस्‍सा करता है। क्या आपको पता है कि 5 हजार साल से पुराने हिंदुस्तान में हिंदु धर्म की स्थापना कब हुर्इ? यह दुनिया के अन्य देशों में क्यों नहीं फैल पाया? आज क्यों हिंदु शब्द सुनते ही राजनीतिकों के जिव्य्हा तिलमिला उठती है?

यहां जानिए इन बातों के महकते जवाब। जिस देश में पहले जिहाद, आतंक, मुजाहिदीन, फिदाइन, दंगा आदि शब्दों की जगह सोने की चिडि़या, विश्वगुरू, ‘स्‍थान मूल्‍य प्रणाली’ और ‘दशमलव प्रणाली’ के जनक की उपाधियां होती थीं से कैसे आ गए भंवर में। भारत सरकार की वेबसाइट knowindia.gov.in एवं ्www.swatantravichar.in और ्www.worldometers.info पर उपस्थित बिंदु :-

इस देश काे भारत कब से कहा जाता है इस बात का जवाब तो युगों पुरानी भरत की कहानी में मिलता है, लेकिन हिंदुस्तान नाम ???
जब कर्इ संस्कृतियां यहां पनपीं तो इस भूमि को अपने मुताबिक उन्होंने पुकारा। करीब पांच हजार बरस पूर्व सिंधु घाटी सभ्यता में घुमंतु लोगों ने यहां हडप्पा संस्कृति की स्थापना की। इसके पश्वात् फारस से आए आक्रमण कारियों ने सिंधु को हिंदु कहकर पुकारा। कहा जाता है कि हिंदुस्तान नाम सिंधु और हिंदु का संयोजन ही है। पश्चिमी सिरफिरों ने जहां सिंधु को इंडस़ नदी कहा, तो देश को इंडिया कहा जाने लगा। इससे पहले आर्यपूजकों ने भारत का नाम आर्यावर्त रख दिया था। इस तरह चार नाम हमारे देश के हुए -भारत, आर्यावर्त, हिंदुस्तान और इंडिया।

The oldest religions - Hinduismसौ साल, हजार साल, दस हजार साल पहले दुनिया में विभिन्न संस्थापकों ने इस धरती पर धर्मों को अपने नजरिए से गढा़। लेकिन इतिहास में हिंदुओं के प्रवर्तक उनकी तरह कोर्इ नहीं हैं ….

* र्इसार्इ मत की शुरूआत की- र्इसा मसीह ने, यह हुआ 2005 बरस पहले। आज के इजरायल में।
* इस्लाम मत की शुरूआत : 1430 साल पहले हजरत मोहम्मद साहब ने की। अरब में।
* जैन और बौद्ध धर्म की स्‍थापना भारत में क्रमश: 600 बी सी और 500 बी सी में हुई थी। ढार्इ-तीन हजार साल पहले।
* सिख मत की शुरूआत: हिंदुओं की रक्षा की लिए गुरू नानक देव द्वारा हुर्इ। डेढ़ हजार बरस पूर्व पंजाब में।
* पारसी, जेन, यहूदी, शिंटो, ताओ सहित दुनिया के बाकी सारे मत भी ऐसे अस्तित्व में आए।

इन सबका आदि : हिंदु मत, (जो पहले सनातन धर्म कहा जाता था।) का उत्थान सृष्टि चक्र में आज भी प्रासंगिक है। यह आज से 1,9729,49,120 वर्ष पुराना हो चुका है।
# दुनिया के दूसरे बडे़ देश चीन के राजदूत (तत्कालीन) हू शिह व नॉइंडिया गोव डॉट इन के मुताबिक हिंदुस्तान ने अपने आखिरी 1,00, 000 सालों के इतिहास में किसी भी देश पर हमला नहीं किया है। इस तरह हिंदु धर्म की बात तो बहुत पीछे की रही, जब हिंदुस्तान की सभ्यता 1,00,000 वर्ष से पहले की प्रमाणित है।
वैश्विक आंकडों में 17 दिसम्बर, 2014 शाम 5: 37 बजे तक इस धरती पर मौजूद लोग हैं : 7, 281, 668, 520

Hinduism_ The world's oldest religions* ईसार्इ (Christians) : 2,173,180,000
* मुस्लिम (Muslims) : 1,598,510,000
* बिन धर्म संबद्घ (No Religion affiliation) : 1,126,500,000
* हिंदु (Hindus) : 1,033,080,000
* बौद्घ (Buddhists) : 487,540,000
* फॉल्क रिलिजंस (Folk Religionists) : 405,120,000
* अन्य रिलजन (Other Religions) : 58,110,000
* यहूदी (Jews) : 13,850,000

इस तरह विश्व की आबादी में इन आठ विकल्पों को बांटकर देखें तो हर सौ व्यक्तियों में से 31 ईसार्इ, 23 मुस्लमान, 16 बिन धर्म संबद्घ, 14 हिंदु, 7 बौद्घ, 6 फॉल्क धर्मी, और शेष 2 अन्य लोग बैठेंगे। यहां आप अब देखें हमारी आजादी से पहले के आंकडे़ जब इंडिया में …

15 अगस्त 1947 को विभाजन कर भारत दो हिस्सों में बांट दिया गया। 14 अगस्त को पाकिस्तान नामक नया देश बना तथा 15 को अंग्रेजों ने इंडिया को छोड़ा। हिंदु, सिखों सहित बाकी सारे धर्म इंडिया में और मुस्लिम आबादी पाकिस्तान में बसार्इ जानी थी। कुछ इस्लामी उग्रवादियों और अंग्रेजों द्वारा रची साजिश से इस जद्दोजहद में दंगे छिड़ गए। मारकाट में लाखों की मौत। इस दौरान भारत में मुस्लिमों की संख्या साढे़ तीन करोड़ और पाकिस्तान में हिंदुओं की 2.75 करोड़ रह गर्इ। इसके बाद शुरू हुआ सपनों का भारत बनाने का सफर। वहीं पाक में इंडिया को नीचा दिखाने, कश्मीर को हडपने व शेष बचे अल्पसंख्यकों को तडपाने का खेल शुरू हुआ, जिसने बाद में आतंक को जन्म दिया। दोनों देशों में मत के वर्तमान आंकडे़…

17 दिसंबर, 2014 के दिन शाम 6: 20 तक भारत में कुल जनसंख्या : 1,27,45,32,040*
इसी वक्त पाकिस्तान में कुल जनसंख्या : 186,534,210
– हिंदुस्तान में मुस्लिम हैं 19.5 करोड़, जबकि 66 साल पहले पौने तीन करोड़ हिंदुओं की स्थली रहे पाकिस्तान में अब मात्र डेढ़ प्रतिशत हिंदु रह गए हैं। वहां संख्या का दावा तो स्पष्ठ नहीं है लेकिन माना जाता है कि बीस लाख अल्पसंख्यक हैं। बांग्लादेश की कुल आबादी 16 करोड़ है, जबकि उसमें हिंदु 1 करोड़ बताए जाते हैं।

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...
शेयर करें