अमेरिकी कंपनी के साथ दो करोड़ डॉलर के समझौते पर पहुंचे भारतीय श्रमिक

0
197

कैटरीना तूफान के बाद तेल रिग और अन्य सुविधाओं की मरम्मत के लिए अमेरिका लाए गए करीब 200 भारतीय श्रमिकों के साथ धोखाधड़ी करने और उनका शोषण करने के एक मामले के निपटारे के लिए आरोपी समुद्री विनिर्माण कंपनी और श्रमिक दो करोड़ डॉलर के समझौते पर पहुंच गए हैं। यह अमेरिका के इतिहास में श्रमिकों की तस्करी के सबसे बड़े मामलों में से एक है।

आरोपी सिग्नल इंटरनेशनल के खिलाफ श्रमिकों की तस्करी के कई मामलों को सुलझाने के लिए यह समझौता किया गया है। एक संघीय जूरी ने कंपनी को उन श्रमिकों के साथ धोखाधड़ी करने और उनका शोषण करने के मामले में इस वर्ष जिम्मेदार पाया था जिन्हें वह प्रलोभन देकर भारत से लाई थी।

अलबामा आधारित कंपनी उन भारतीय श्रमिकों को एक लिखित माफी पत्र भी जारी करेगी जिन्हें वह 2005 में आए तूफान के कारण क्षतिग्रस्त हुए तेल रिग और अन्य सुविधाओं की मरम्मत के लिए वेल्डरों, पाइप फिट करने वालों और अन्य पदों पर काम करने के लिए अमेरिका लाई थी।

कथित तौर पर प्रत्येक श्रमिक ने नियोक्ताओं और एक वकील को 10,000 से 20,000 डॉलर या इससे भी अधिक राशि भर्ती शुल्क और अन्य लागतों के तौर पर दी थी। नियोक्ताओं ने उन्हें अच्छी नौकरियां, ग्रीन कार्ड और उन्हें एवं उनके परिवारों को अमेरिका में स्थानीय निवास देने का वादा किया था।

इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...