गुजरात तक समुन्द्र के रास्ते गैस पाइपलाइन बिछा सकता है ईरान

0
257

ईरान ने आज कहा कि उसके यहां से भारत में गुजरात तक समुद्र के रास्ते गैस पाइप लाइन बिछाने की बात की जा रही है। इस पर 4.5 अरब डालर का खर्च आ सकता है। ईरान के पास खनिज गैस का सबसे बड़ा भंडार है।

पाकिस्तान के रास्ते प्रस्तावित गैस पाइप लाइन परियोजना पर बातचीत से भारत के अलग रहने के बाद अब इस प्रस्ताव पर बात हो रही है।

ईरान की राष्ट्रीय गैस-निर्यात कंपनी :एनआईजीईसी: के प्रबंध निदेशक अलीरेज कामेली ने यहां विश्व उर्जा नीति सम्मेलन में कहा कि ईरानतट से ओमा सागर-हिंद महासागर के रास्ते गुजरात तट तक गैस पाइप-लाइन के लिए, ‘बातचीत पर गंभीरता से विचार हो रहा है।’ इस पाइप लाइन की क्षमता दैनिक 3.15 करोड़ घन मीटर गैस परिवहन की रखने और इसे गैस खरीद समझौता हो जाने और सभी मंजूरियां मिलने के बाद दो साल में बिछाने का विचार है।

भारत सरकार सुरक्षागत और वाणिज्यिक चिंताओं के कारण ईरान-पाकिस्तान-भारत गैस पाइल लाइन परियोजना की बातचीत से 2007 से ही भाग नहीं ले रही है। पर सरकार ने 7.6 अरब डालर की इस परियोजना से अलग होने की कोई आधिकारिक घोषणा अभी नहीं की है।

कामेली ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि ईरान इस समय पाकिस्तान के साथ केवल ईरान-पाकिस्तान खंड पर गैस पाइप लाइन की बात कर रहा है। उन्होंने कहा कि ‘‘यदि भारत की रचि होगी’ तो पाइप लाइन को भारत तक बढाया जा सकता है।

इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...