सफाई कर्मचारी की 15 साल की बेटी सुषमा वर्मा ने उतीर्ण की P.H.D की परीक्षा

सुषमा वर्मा : बचपन! ज़िंदगी के सफ़र का वह पड़ाव जहां बड़े-बड़े सपने होते हैं और उन सपनो से भी बड़ी भोली-भाली बातें। न आज की परवाह, न कल की चिंता। न दुख की खबर, न सुख की कोई परवाह। जहां गुड्डे-गुडिए हमे रिझातें हैं। वहीं, जहां हम ज़िंदगी को रोज़ नए खेल सिखाते हैं। सोचिए जिस उम्र में बच्चों को खेलने से फुर्सत नहीं मिलती, उस उम्र में कोई बच्चा अलग ही मुकाम हासिल कर जाए, तो यह बात हमें जरूर अचंभित करती है। पर यही उपलब्धि हमे प्रेरित भी करती है।

आपका यह जानकर हर्ष होगा कि एक सफाई कर्मचारी की 15 साल की बेटी सुषमा ने देश की सबसे कम उम्र की पीएचडी की छात्रा बनने का खिताब अपने नाम किया है।

15 साल की बेटी सुषमा वर्मा ने उतीर्ण की P.H.D
15 साल की बेटी सुषमा वर्मा ने उतीर्ण की P.H.D

indiatimes

7 साल की छोटी उम्र में जब हम में से अधिकतर टेबल (पहाड़े) याद करते रहते हैं, तब सुषमा वर्मा ने हाई स्कूल उत्तीर्ण कर लिया था।  13 साल की उम्र में हाई स्कूल में प्रवेश करने के साथ पढ़ाई के बोझ तले दबे महसूस करते हैं, तब इस बेटी ने लखनऊ विश्वविद्यालय से सूक्ष्म जीव विज्ञान में अपनी मास्टर डिग्री पूरी कर ली थी। और अब जब सुषमा मात्र 15 साल की हैं, तो उसने पीएचडी की पढ़ाई के लिए अपना इनरॉलमेंट बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय में करा कर देश की सबसे छोटी पीएचडी की छात्रा बनने का गौरव हासिल कर लिया है।

शेष अगले पेज पर …. Next पर क्लिक करें

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

loading...

Loading...
शेयर करें