'स्टार्ट-अप इंडिया, स्टैंड-अप इंडिया' का ब्लूप्रिंट 16 जनवरी को होगा पेश : पीएम मोदी

0
238

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्रिसमस और नव वर्ष के मौके पर देश को बधाई देते हुए रविवार को कहा कि स्टार्ट-अप इंडिया, स्टैंड-अप इंडिया कार्यक्रम की घोषणा 16 जनवरी को होगी। 2015 के लिए आखिरी ‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा, “स्टार्ट-अप इंडिया, स्टैंड-अप इंडिया ने हमारे देश के युवाओं को नया अवसर दिया है। चाहे विनिर्माण हो, सेवा क्षेत्र हो या कृषि, इस पहल से नया विचार, नया रास्ता और नया नवाचार मिलेगा।” उन्होंने कहा, “16 जनवरी को इस पहल का खाका पेश किया जाएगा।”

पीएम मोदी ने शारीरिक रूप से अक्षम लोगों के लिए ‘विकलांग’ के स्थान पर ‘दिव्यांग’ शब्द का प्रयोग करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने ‘विकलांग’ शब्द की जगह ‘दिव्यांग’ शब्द की पैरवी करते हुए कहा, “हम अक्सर शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को विकलांग, अक्षम और अन्य नामों से बुलाते हैं, लेकिन उनसे मिलने पर कई बार हमें पता चलता है कि उनमें अद्भुत क्षमता है।”

उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजना दुनिया की अपने तरह की सबसे बड़ी योजना के तौर पर गिनीज विश्व रिकार्ड में दर्ज हो चुकी है। प्रधानमंत्री ने कहा, “मुझे यह बताते हुए काफी खुशी हो रही है कि प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजना हाल ही में गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड्स में दर्ज हो चुकी है और इसे सफलतापूर्वक लागू किया गया है।”

प्रधानमंत्री ने कहा, “विभिन्न योजनाओं के तहत अभी तक 40 हजार करोड़ रुपये लाभार्थियों के खातों में जमा किए जा चुके हैं।” उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि करीब 35-40 योजनाओं को प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजना से जोड़ दिया गया है।” देश में मौलिक कर्तव्य पर चर्चा के अभाव का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने इस विषय पर गणतंत्र दिवस तक लोगों की राय आमंत्रित की। उन्होंने कहा, “मौलिक अधिकारों पर बहुत चर्चा होती है और होनी भी चाहिए। लेकिन मौलिक कर्तव्यों पर बहुत कम चर्चा होती है। हमारा संविधान कर्तव्यों को भी महत्व देता है।”

प्रधानमंत्री ने देशभर के विभिन्न स्कूलों-कॉलेजों से आग्रह किया कि भारतीय संविधान के निर्माता डॉ बीआर अंबेडकर की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में 26 जनवरी से पूर्व ‘कर्तव्य’ विषय पर निबंध लेखन और कविता लेखन प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएं।

पीएम मोदी ने लोगों से ‘mygov.in’ पोर्टल पर कर्तव्यों के बारे में अपने विचार जाहिर करने के लिए भी कहा है, ताकि वह जान पाएं कि लोग क्या सोचते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि गणतंत्र दिवस से पहले लोगों को अलग-अलग शहरों, कस्बों और गांवों में स्थापित विभिन्न शख्सियतों की प्रतिमाओं की साफ-सफाई का काम करना चाहिए। ‘राष्ट्रीय युवा महोत्सव’ के लिए भी मोदी ने युवाओं के विचार आमंत्रित किए हैं।

मोदी ने कहा, “12 जनवरी को हम स्वामी विवेकानंद की जयंती मनाएंगे। 1995 से इसी दिन राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।” उन्होंने युवाओं को अपने विचार ‘नरेंद्र मोदी मोबाइल एप’ पर भेजने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि देशभर में सभी पर्यटक स्थलों पर साफ-सफाई पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने पुणे के गणेश वी. सवालेश्वरकर द्वारा लिखे एक पत्र का जिक्र करते हुए कहा, “हमें पर्यटक स्थलों पर साफ-सफाई सुनिश्चित करनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि गणेश ने पर्यटक स्थलों पर साफ-सफाई की जरूरत के अहम मसले को उठाया।

इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...