जम्मू पुलिस ने आंतकी दबोचने वाले बहादुर युवाओ को पुलिस में भर्ती किया.

राज्य ब्यूरो, जम्मू : ऊधमपुर के नरसू में आतंकवादी को जिंदा पकड़ने वाले दो युवाओं (जीजा-साले) को राज्य सरकार ने उप मुख्यमंत्री के भेजे गये पत्र के बाद पुलिस में भर्ती किया गया है। यह सम्मान है उन दो युवाओं को, आपको बता दें की इस विषय में उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह ने पुलिस महानिदेशक के राजेंद्रा को पत्र लिखा था।

उपमुख्यमंत्री ने शनिवार को पुलिस महानिदेशक को भेजे पत्र में लिखा था कि “यह पहली बार है जब राज्य में स्थानीय लोगों ने अपनी बहादुरी की मिसाल पेश करते हुए आतंकवादी को जिंदा पकड़ा है। अगर इन्हें पुलिस में नियमों का पालन करते हुए कांस्टेबल नियुक्त किया जाता है तो इससे राष्ट्रवादी ताकतों को और बल मिलेगा। उन्होंने सभी के लिए एक मिसाल कायम की है। इसीलिए उन्हें पुलिस में भर्ती किया जाना चाहिए।”

यहाँ पढ़े : पढ़िए: पाकिस्‍तानी आतंकी कासिम खान के पकड़े जाने की पूरी कहानी

विदित हो कि चिरड़ी के रहने वाले राकेश व उसके जीजा सांबा निवासी विक्रमजीत को जब आतंकी नावेद ने बंधक बना लिया था तो दोनों ने बहादुरी का परिचय देते हुए नावेद को ही पकड़ कर पुलिस को सौंप दिया। दोनों की इस बहादुरी के बाद स्थानीय लोगों ने उन्हें वीरता पुरस्कार देने के अलावा पुलिस में भर्ती करने की भी मांग की थी। दोनों स्वयं भी पुलिस में भर्ती होने की इच्छा जता चुके हैं।

अब तक की प्राप्त सुचना के अनुसार दोंनो युवाओ को पुलिस में भर्ती कर लिया गया है  |

Loading...
इन ← → पर क्लिक करें

Loading...
loading...
शेयर करें